ऐसे 5 कारण जिनसे ई-शिक्षा से आपके बच्चे को लाभ पहुंचेगा

हमें ऑनलाइन शिक्षा में बहुत ज्यादा तेजी देखने को मिल रही है। रिपोर्ट्स के हिसाब से भारत में ऑनलाइन शिक्षा बाजार की कीमत 2024 तक 360 बिलियन रूपये की आंकी गई है।

माता-पिता होने के नाते आपके मन में ई-शिक्षा और आपके बच्चे पर इसके प्रभाव को लेकर प्रश्न होंगे। सीखने की क्षमता और कुल अनुभव के बेहतर होने के साथ आपका बच्चा बहुत-से लाभों का आनंद उठा सकता है।

लाभ इस प्रकार हैं-

इससे आपका बच्चा ज्यादा जवाबदार बनता है

ई-शिक्षा के दौरान आपके बच्चे को अपने असाइनमेंट सबमिट करने और कक्षा की चर्चाओं में भाग लेने के लिए याद दिलाने हेतु कोई शारीरिक उपस्थिति नहीं होती। यह उन्हें कम आयु में ही आत्म-प्रेरित बनाएगा।

इससे उत्सुकता और सीखने की प्रबल इच्छा बढ़ती है

ऑनलाइन जानकारी का भंडार उपलब्ध है। अलग-अलग प्रकार की ऑनलाइन शिक्षा में एक्सेस से आपका बच्चा ऐसे विषयों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकता है जिसे सीखने के प्रति वह उत्सुक या इच्छुक हो।

इससे बच्चे और ज्यादा सुनियोजित हो जाते हैं

कक्षा की फाइलें प्रबंधित करके, दूसरे विद्यार्थियों के साथ कोऑर्डिनेट करके, और असाइनमेंट सबमिट करके आपके बच्चे को सुनियोजन की कुशलता का प्रत्यक्ष अनुभव मिलेगा। इससे उसे कम आयु से ही कार्यों की प्राथमिकता के निर्धारण का सबक भी मिलेगा।

निजीकृत शिक्षा

शिक्षा के ऑडियो, विजुअल, या टेक्स्ट जैसे बहुत से तरीकों के साथ आपका बच्चा उस फॉर्मेट में सीख सकता है जो उसे सहज महसूस होता हो। वह अपने शिक्षकों से ऑनलाइन संपर्क करके या स्वयं खोजकर अपनी शंकाओं को भी दूर कर सकता है।

मनोरंजन की बजाय शिक्षा के लिए तकनीक का इस्तेमाल

अगर आपको चिंता है कि आपका बच्चा हमेशा ही सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर रहता है, तो ई-शिक्षा से यह चिंता कम हो जाएगी। ऑनलाइन शिक्षा के बहुत-से अवसर उपलब्ध होने के कारण वे मनोरंजन के अलावा दूसरे उद्देश्यों के लिए भी तकनीक का इस्तेमाल करेंगे।

अपने बच्चे को शिक्षा का यह रूप अपनाने के लिए प्रोत्साहित करें क्योंकि इससे उसे अपने पूरे जीवन में सफलता के अनुकूल विशेषताएँ और महत्वाकांक्षी रवैया विकसित करने में मदद मिलेगी।