कक्षा में संघर्ष कर रहे छात्रों को प्रेरित करने के पांच तरीके

 
 
 

 

हमारे पास सबसे अच्छी शिक्षण योजना है, प्रगति का पता लगाने के लिए सही मूल्यांकन नीति है, साथ ही सेमेस्टर को सही समय पर पूरा करने हेतु मानचित्र एवं नक़्शे भी हैं मगर फिर भी किसी चीज़ की कमी महसूस होती है?? 

क्या एक साधारण छात्र को सफल होते देखना आपके लिए ख़ुशी की बात नहीं होगी?

 

यहाँ पांच रणनीतियाँ दी गयी हैं जो कि आपको पीसी की मदद ( using a PC ) से छात्रों को प्रेरित करने में मदद करेंगी:   

 

  1. छात्रों के दिमाग की व्याख्या करें - छात्रों में सीखने को लेकर एक छुपी धारणा है। उनका मानना ​​है कि वे कुछ क्षमताओं और प्रतिभाओं के बिना पैदा हुए हैं और इससे केवल तभी जीत सकते हैं जबकि वे प्रेरित महसूस करें। इस पर विजय प्राप्त करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि आप उनकी प्रशंसा करें उदाहरण के लिए : अरे वाह! आप तो हर हफ्ते अपने असाइनमेंट लिखने में बेहतर हो रहे हैं। आप पढ़ने का अभ्यास कर रहे हैं, आपकी ड्राइंग भी अच्छी लग रही है।अपनी क्षमताओं के लिए प्रशंसा छात्रों को लम्बे समय तक सीखने के लिए प्रोत्साहित करती है और उन्हें अगली बार और बेहतर करने के लिए प्रेरित करती है।

 

  1. मित्र सलाह कार्यक्रम - हर समय अपने छात्र के शिक्षक नहीं बल्कि उनके दोस्त बनने की कोशिश कीजिये। इससे उन्हें आत्मविश्वास और आप पर भरोसा करने में मदद मिलेगी जिसके परिणामस्वरूप वे बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। शिक्षा के साथ-साथ जुड़े रहने का आधुनिक तरीका वन-ड्राइव और ईमेल की मदद से ऑनलाइन भी हो सकता है। आप इन प्लेटफॉर्म्स पर अपना डाटा स्टोर व साझा कर सकते हैं।         

 

  1. 2*4 तकनीक आज़माएँ - सरल और प्रभावी। इस तकनीक के अनुसार छात्रों को चाहिए कि वे लगातार चार दिनों के लिए दो मिनट अपने विचार व्यक्त करें। वे जिस बारे में चाहें बात कर सकते हैं - अपने बेस्ट फ्रेंड से लेकर अपने पसंदीदा विषय के बारे में। ऐसा करके आप अपने छात्रों के बारे में न सिर्फ और अधिक जान सकेंगे बल्कि बेहतर तालमेल के साथ यह भी पता लगा पायेंगे कि उन्हें क्या परेशान कर रहा है।            

 

  1. सामूहिक गतिविधियों को प्रोत्साहित करें - छात्रों को प्रेरित करने, सीखने को बढ़ावा देने और संपर्क में सामूहिक गतिविधियाँ काफी प्रभावशाली हो सकती हैं। सामूहिक गतिविधियों में सम्मिलित छात्र अकेले कार्य करने वाले छात्रों से न सिर्फ अधिक मददगार होते हैं बल्कि बेहतर प्रदर्शन भी करते हैं(द नेशनल अकादमिक प्रेस -https://www.nap.edu/read/5287/chapter/3). 

 

 

  1. प्रोग्रेस ट्रैक करें - लोग पॉजिटिव से ज़्यादा नेगेटिव पर ध्यान देते हैं। ध्यान रहे कि आप छात्रों को उनकी प्रोग्रेस रिपोर्ट दिखाते हुए उन में सकारात्मकता पैदा करें। रिपोर्ट को आरेख और एक्सेल के माध्यम से दिखाया जा सकता है जिससे उन्हें विश्वास हो सके कि वे कितना आगे आ चुके हैं।         

 

प्रेरक शिक्षक वास्तविक गर्मजोशी और सहानुभूति की बौछार करते हैं जो छात्रों को स्वयं के सर्वश्रेष्ठ संस्करण के लिए प्रेरित करता है, और साथ ही आपके शिक्षण को भी बेहतर बनाता है। (good to great!)