एक तकनीक-प्रेमी बच्चे को बढ़ावा कैसे दें

“आईटी + आईटी = आईटी

इंडियन टैलेंट +इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी = इंडिया टुमारो ”

- नरेन्द्र मोदी

 

आज के इस समय में,सामाजिक दुनिया को प्रौद्योगिकी के माध्यम से अधिक और व्यक्तिगत व्यवहार के माध्यम से कम परिभाषित किया जाता है। अधिकांश बच्चे तकनीकी तरीकों के लिए चतुर, ध्यान देने वाले और अनुकूल हैं। यह सुनिश्चित करने के लिए कि बच्चों द्वारा तकनीक का सही ढंग से और पूरी कुशलता के साथ इस्तेमाल किया जा रहा है, सभी अभिभावकों को यह चाहिए कि वे तकनीकी रूप से संतुलित समझ रखने वाले बच्चे को बढ़ावा देने हेतु कुछ पॉइंटर्स को ध्यान में रखें।   

 

  • उन्हें तकनीक संबंधी चर्चाओं में शामिल करके - तकनीकी लाभों के बारे में अपने बच्चे के साथ चर्चा करने के लिए हमेशा तैयार रहें। पीसी के प्रति स्वस्थ दृष्टिकोण को सक्रिय रूप से प्रोत्साहित करें,यह जानें कि वे ऑनलाइन क्या कर रहे हैं, और विशेष रूप से सोशल मीडिया का उपयोग करते समय। इसके पक्ष और विपक्ष के बारे में चर्चा करें ताकि उनमें एक ज़िम्मेदारी का भाव पैदा हो।

 

  • तकनीक द्वारा शैक्षिक क्षेत्र में भागीदारी - भारत में 5-24 वर्ष के आयु वर्ग में दुनिया में सबसे बड़ी आबादी है जो शैक्षिक क्षेत्र में बड़ी संख्या में अवसरों को दर्शाती है (ibef.org- जुलाई 2019)। सभी छात्र अपनी उच्च शिक्षा से तकनीकी रूप से उन्नत अनुभवों की उम्मीद कर रहे हैं। अनेक कंटेंट, शैक्षिक वीडियोज़, रियल-टाइम ट्यूटरिंग, यह सब आसानी से उपलब्ध हैं जिन्होंने शिक्षा प्रणाली को पूरी तरह से अपने आप में नया कर दिया है। इसके पहले हर छात्र को, बहुत से ट्यूटर्स के पास जाना पड़ता था, लेकिन अब रियल-टाइम ट्यूटरिंग के माध्यम से उनके पास एक स्थान पर रहने और शीर्ष पायदान पर कोचिंग की सुविधा है।

 

  • तकनीक को अपना साथी समझना - एक तकनीक-प्रेमी बच्चे के लिए, उसका सबसे अच्छा साथी वो गैजेट है जो कि उसके हित में उपयोग किया जाता है। इसके बहुत सारे फायदे हैं। एक पीसी एक मशीन से कहीं ज़्यादा सीखने का एक माध्यम, एक एंटरटेनमेंट फैक्ट्री, एक स्टोरी टेलर और भी बहुत कुछ!

 

  • संतुलन कायम करना - तकनीक पर बहुत समय तक निर्भर रहना भी इसके प्रतिकूल प्रभाव डाल सकता है। ऐसा ज़रूरी नहीं कि सारी जानकारी सही हो, लेकिन एक बच्चे के लिए गूगल अभेद्य ज्ञान का साधन हो सकता है। एक बच्चा अपने माता-पिता के व्यवहार को अपनाता है।  सुनिश्चित करें कि आप एक संतुलन बनाते हैं और अपने से छोटों के साथ व्यक्तिगत रूप से समय बिताते हैं।

 

याद रखें की आज पीसी सीखने का एक अभिन्न अंग हैं - PCs Today Are An Integral Part of Learning एक अभिभावक के रूप में आपको यह परिवर्तन स्वीकारना चाहिए और साथ ही इसका हिस्सा बनकर सही पीसी के चुनाव से शुरुआत कर - picking the right PC.- बच्चों के विकास में मदद करने की ज़रुरत है