हाइब्रिड बनाम मिश्रित शिक्षा (टीचर्स/ माता-पिता/ बच्चे)

कुछ साल पहले शिक्षा सिर्फ क्लासरूम तक ही सीमित थी। लेकिन महामारी के कारण 2020 से शिक्षा वर्चुअल क्लासरूम में तब्दील हो गई है। लॉकडाउन में थोड़ी सामान्यता आने पर और सक्रिय केसेस की संख्या में कमी होने के कारण हमने हाइब्रिड शिक्षा और मिश्रित शिक्षा मॉडल से धीरे धीरे सामान्यता में लौटने की कोशिश की।

हाइब्रिड शिक्षा और मिश्रित शिक्षा में अधिकतर फर्क पता नहीं किया जा सकता। हालाँकि उनमें एक ही प्रकार की चीजे, जैसे ऑनलाइन और वैयक्तिक रूप से क्लासेस, होती हैं लेकिन इनमें एक दूसरे से काफी फर्क होता है। इन दोनों में फर्क करने में आपकी मदद के लिए यहाँ कुछ चीजें दी गई हैं:

  • हाइब्रिड शिक्षा तब होती है जब कुछ स्टूडेंट्स भौतिक रूप से कक्षाओं में जाते हैं जबकि कुछ स्टूडेंट्स पढ़ाई के लिए पीसी का उपयोग करते हैं। टीचर या इंस्ट्रक्टर ऑनलाइन स्टूडेंट्स और क्लास में मौजूद स्टूडेंट्स को एकसाथ पढ़ाने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग जैसी तकनीक का उपयोग करते हैं।
  • मिश्रित शिक्षा तब होती है जब इंस्ट्रक्टर या टीचर स्टूडेंट्स को पढ़ाने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन संसाधनों को मिलाते हैं। कुछ गतिविधियाँ पीसी से शिक्षा के जरिए की जाती हैं जबकि कुछ गतिविधियाँ वैयक्तिक रूप से क्लासरूम में की जाती हैं।
  • हाइब्रिड शिक्षा में स्टूडेंट्स को पीसी सक्रियित शिक्षा और वैयक्तिक रूप से शिक्षा के मध्य चुनने का विकल्प मिलता है।
  • जबकि दूसरी तरफ मिश्रित शिक्षा में ऑनलाइन और वैयक्तिक रूप से गतिविधियों के बारे में टीचर फैसला लेते हैं।
  • हाइब्रिड शिक्षा में वैयक्तिक रूप वाले और ऑनलाइन स्टूडेंट्स अलग-अलग होते हैं।
  • जबकि मिश्रित शिक्षा में समान स्टूडेंट्स वैयक्तिक और ऑनलाइन दोनों प्रकार की कक्षाओं में जाते हैं।

भले ही दोनों प्रकार के शिक्षा मॉडल्स में पीसी सक्रियित शिक्षा और वैयक्तिक शिक्षा का उपयोग किया जाता है, लेकिन ये दोनों ही अलग-अलग शिक्षा मॉडल्स हैं। इस तरह के वक्त में दोनों प्रकार के शिक्षा मॉडल्स स्टूडेंट्स और टीचर्स दोनों के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं।