STEAM Education: वो सबकुछ जो एक शिक्षक के लिए जानना ज़रूरी है

 

दुनिया का भविष्य ही आपकी कक्षा है| और भविष्य आज की तुलना में बहुत अधिक तकनीकी है।एक शिक्षक के रूप में यह अनदेखा करना मुश्किल है कि आपके छात्र शुरुआत से ही "जॉब-रेडी" होना शुरू हो जाते हैं| यही वह जगह है जहां STEAM Education नज़र में आती है|
क्या है STEAM Education?

STEAM Education में निम्नलिखित शामिल हैं:

1) विज्ञान
2) प्रौद्योगिकी
3) इंजीनियरिंग
4) कला
5) गणित

ये सभी विषय बहुत से करियर, यहाँ तक कि जो अभी तक मौजूद भी नहीं हैं ,के लिए नींव रखते हैं|
संपूर्ण विचार एक छात्र प्रत्येक विषय के भीतर प्रमुख अवधारणाओं को समझने एवं उनमें संबंध स्थापित करने के विषय में है| यह अनुसंधान और व्यावहारिक, परियोजना-आधारित असाइनमेंट के लिए एक पीसी का उपयोग करने में मदद करता है क्योंकि इससे महत्वपूर्ण सोच कौशल तेज़ होता है जो की बहुत ही आवश्यक है |

STEAM Education क्यों ज़रूरी है?

एक समस्या का समाधान करते हुये एक छात्र में खुद सोचने की क्षमता होनी चाहिए| STEAM विषय छात्रों को "एक्सप्लोरर" मानसिकता विकसित करने और महत्वपूर्ण सोच के महत्व को समझने का मौका देते हैं।

STEAM Education का भविष्य क्या है?

इन विषयों या कम से कम बुनियादी अवधारणाओं को इस विषय के भाग को हमारे देश के सभी बोर्डों में शुरुआती उम्र से पढ़ाया जाता है। लेकिन यह तीव्रता है जिस पर काम करने की जरूरत है। चाहे यह अधिक अतिरिक्त पाठ्यचर्यात्मक गतिविधियां या गृहकार्य है जो मन को चुनौती देता है, STEAM के विषय में बहुत अधिक या लगातार क्षेत्र यात्राएं - यह छोटे कदम वास्तव में आपके छात्रों के लिए एक लंबा सफर तय करेंगे।

निम्नलिखित दिए गए पांच निर्देशों का पालन करते हुए आप STEAM Education को अपनी कक्षा का एक नियमित हिस्सा बना सकते हैं:

1) स्कूल में मेकरस्पेस सेटअप करें जिससे कि छात्रों को एक जगह मिले यह जानने के लिए की उन्हें क्या रुचिकर लगता है|
2) ऐसा होमवर्क दें जोकि थोड़ा हटकर  हो या वो मेकरस्पेस प्रोजेक्ट्स जिनमें ज्यादा फैंसी सामग्री की आवश्यकता नहीं है|
3)सुनिश्चित करें कि आपके छात्रों के पास स्कूल में पीसी है और साथ ही उनके माता-पिता को उनके दीर्घकालिक लाभ के लिए निवेश करने हेतु प्रोत्साहित करें|
4)कक्षाओं को संवादात्मक बनाएं, उन गतिविधियों के साथ जो उन्हें स्टेम विषयों के बारे में बात करने एवं उत्सुक होने में मदद करती हैं|
5)समूह को उचित ध्यान दें क्योंकि यह छोटी चर्चा और बहस है जो किसी विषय के लिए बच्चे की जिज्ञासा को बढ़ाती है|

हैप्पी टीचिंग!