यहाँ दी हुई टिप्पणियों का इस्तेमाल करने से आप पीसी को सुरक्षित रखने के मामले में कुशल बन सकते हैं

 

सेफ्टी फर्स्ट इज़ सेफ्टी ऑलवेज़ (सबसे पहले सुरक्षा का ध्यान रखने से ही सदा सुरक्षित रहा जा सकता है.)

- चार्ल्स एम. हैयस

 

तकनीकी हमारे दैनिक जीवन का बहुत बड़ा हिस्सा है. यह उपयोगी है, ज्ञानवर्धक और मज़ेदार भी है. ब्राउज़ करने के दौरान आप कितना भी सुरक्षित महसूस कर लें लेकिन यह जोखिमभरा भी हो सकता है. पीसी की अच्छी सुरक्षा प्रथाओं का अनुपालन करने की आदत डालने से आप अपनी औऱ अपने प्रियजनों की सुरक्षा कर सकते हैं.

 

   पासवर्ड परफेक्ट

 

हम सब हैकर्स से संबंधित डरावने आर्टिकल्स पढ़ते हैं और अतिशयोक्तिपूर्ण वीडियोज़ भी देखते रहते हैं. बेशक इनमें से कुछ बातें बढ़ाचढ़ा कर पेश की जाती हैं, लेकिन बाद में पछतावा होने के बजाय पहले से ही सुरक्षित रहना बेहतर है. यहाँ दी हुई बातों का अनुपालन करने से आप सुरक्षित रह सकते हैं : 

  • लंबे पासवर्ड का इस्तेमाल करें - 8 वर्ण या उससे अधिक हों तो बेहतर है
  • वर्णों का तगड़ा मिश्रण होने से एक अच्छा पासवर्ड बनता है, और कभी भी अलग-अलग साइटों के लिए समान पासवर्ड का इस्तेमाल न करें.
  • अपने पासवर्ड्स किसी के साथ भी शेयर न करें और उन्हें कहीं भी न लिखें (खास कर आपके मोनिटर पर लगे हुए पोस्ट-इट नोट पर
  • अपने पासवर्ड को कम से कम 6 महीनों में एक बार अपडेट करें, (90 दिन में बदलेंगे तो बेहतर होगा)

 

  यदि कोई इमेल संदिग्ध लगे, तो इसे न खोलें

 

यदि किसी भी जानी-पहचानी ऑनलाइन सर्विस से कोई इमेल आता है और उसमें आपको अपनी नीजी जानकारी की पुष्टि करने के लिए किसी साइट में लोगइन करने के लिए कहा हो तो निश्चित रूप से ऐसा इमेल हमेशा ही जाली होता है.

सामान्यतः आपके इमेल ऐप्लिकेशन के स्पैम फिल्टर में ऐसे इमेल्स पकड़े जाते हैं, लेकिन यदि ऐसा कोई इमेल इनबॉक्स आ भी जाए और आप इसकी लिंक पर क्लिक कर देते हैं तो आपका वेब ब्राउज़र इसे डिटेक्ट करेगा और उस साइट को ब्लॉक कर देगा. लेकिन ऐसा करने के लिए आपके पास सही सॉफ्टवेयर होना ज़रूरी है.

 

   बैकअप लें

 

नियमित रूप से बैकअप लेते रहें इससे आप अनपेक्षित हानि से बच सकते हैं. यदि आप अपने डेटा का बैकअप नहीं लेते हैं और पीसी में कुछ समस्याएं उत्पन्न होती हैं तो मुमकिन है कि आप जीवनभर का डेटा गवां दें.

आपके डिवाइस की भौतिक सुरक्षा भी उतनी ही ज़रूरी है जितनी तकनीकी सुरक्षा.

  • यदि आपको आपका पीसी छोड़कर जाना पड़े तो उसे लॉक कर दें ताकि अन्य कोई भी इसका इस्तेमाल न कर सके.
  • यदि आप संवेदनशील जानकारी फ्लैशड्राइव या एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव में रखते हैं तो सुनिश्चित करें कि ये भी लॉक किए हुए हों.
  • डेस्कटॉप कम्प्यूटर्स का इस्तेमाल न कर रहे हों तब सिस्टम को शट-डाउन कर दें या तो स्क्रीन को लॉक कर दें.

 

अब आप पीसी को सुरक्षित रखने के मामले में कुशल हो गए हैं. इंटरनेट का उपयोग करते समय बच्चों को सुरक्षित रखने की जानकारी आपको मिल गई है - हैप्पी डिजिटल पेरेन्टिंग!