बच्चों को किताबें इ. क्यों पढ़नी चाहिए

 

"आप जितना ज़्यादा पढ़ेंगे, उतना आपका ज्ञान बढ़ेगा. और जितना आपका ज्ञान बढ़ेगा, उतनी अधिक जगहों पर आप जाएंगे."

- डॉ. सुस

डॉ. सुस ने बहुत अच्छी तरह से बताया है कि बच्चों को कहानी सुनने का समय क्यों अच्छा लगता है. चाहे सोने से पहले हो या फिर रविवार की दोपहर हो, जो बच्चा किताबें पढ़ना पसंद करता है वो जीवन भर प्रगति के पथ पर रहेगा - जानिए क्यों :

 

पहला कारण

चाहे आपका बच्चा छोटा हो या बड़ा, पढ़ना उसके मस्तिष्क के बाएं हिस्से को जागृत करता है. विज्ञान और गणित से संबंधित जो कार्य तार्किक रूप से किए जाने चाहिए, उनको करने में यह हिस्सा मदद करता है.

प्रतिदिन सिर्फ एक अध्याय आपके बच्चे के स्वस्थ मस्तिष्क और भाषाकीय विकास को सुनिश्चित कर सकता है. आपको सिर्फ यह पता करना होगा कि आपके बच्चे को क्या पढ़ना पसंद है!

 

दूसरा कारण

वर्ल्ड इकॉनोमिक फोरम के अध्ययन के अनुसार, हर व्यक्ति को कार्य विश्व में महारथ हासिल करने के लिए सबसे पहले सर्जनशीलता कौशल पर ध्यान देना ज़रूरी है. संज्ञानात्मक विविधता या विचारों की विविधता इन विषयों पर किए गए अनुसंधानों से यह साबित हुआ है कि नियमित रूप से पठन करने के कारण प्रभावशीलता बढ़ती है और समस्या को हल करने की कुशलता में सुधार होता है.

 

तीसरा कारण

"लिव लाइफ टू एक्सप्रेस, नॉट टू इम्प्रेस"

- अज्ञात

यदि आप चाहते हैं कि आपका बच्चा खुद को व्यक्त करने के लिए विस्तृत शब्दावली का इस्तेमाल करे तो आपको उसकी पढ़ने की रूचि बढ़ानी होगी. क्योंकि एक किताब उसके लेखक के विचारों की अभिव्यक्ति है - जो आपके बच्चों के लिए प्रेरणात्मक बन सकती है.

 

चौथा कारण

यदि आप अपने बच्चों को प्रेरित करना चाहते हैं तो पढ़ने में दिलचस्पी लाना ज़रूरी है. वह किताबों के किरदारों से सीखकर अपने जीवन में आनेवाली चुनौतियों का सामना करेंगे, न की उनसे दूर भागेंगे.

क्या आप चाहते हैं कि आपका बच्चा PC पर किताबें पढ़े?

तो नीचे दी हुई कुछ वेबसाइट्स की मदद से आप ऑनलाइन पढ़ सकते हैं :-

आपके बच्चों के लिए स्टडी ब्रेक (स्कूल की पढ़ाई से कुछ अलग समय) के समय पठन यह एक अच्छा विचार है.

खास कर, परीक्षा के दौरान अपने दिमाग को तरोताज़ा रखने के लिए बच्चों को नियमित रूप से स्टडी ब्रेक लेना चाहिए और पठन से बेहतर कोई और तरीका नहीं है!