छात्रों को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने हेतु आपकी तीन-चरणीय मार्गदर्शिका

 

कुछ छात्रों को पढ़ना बहुत पसंद होता है और कुछ ऐसे भी होते हैं जो पढ़ने से बचने के हर संभव प्रयास करते हैं। एक शिक्षक के रूप में आप जानते हैं कि पढ़ना सीखने का वह महत्वपूर्ण हिस्सा है जिसे अनदेखा नहीं किया जा सकता। वस्तुतः, बच्चे जितना जल्दी पढ़ना शुरू करें उनके लिए उतना ही बेहतर है। अच्छी प्रकाशित लेखनी को पढ़ने से छात्रों की खुद के लेखन, शब्दावली तथा अवधारणाओं की समझ पर उल्लेखनीय प्रभाव पड़ता है।

अपने छात्रों को पढ़ने में रूचि दिलाने के लिए इस तीन-चरणीय कार्य योजना का पालन करें और अंतर देखें

1) चुनाव अच्छे हैं!

कक्षा या होमवर्क के लिए पढ़ने हेतु पाठ्यक्रम के अध्याय अथवा पुस्तक चुनने की स्वतंत्रता छात्रों को दें। यह थोड़ा मुश्किल हो सकता है परंतु आपके प्रयास सफ़ल होंगे क्योंकि इससे आपके छात्र पढ़ाई में अधिक भाग ले पाएँगे। ज़ोर से पढ़ना ऐसा शिक्षण अभ्यास है जिसका वर्षों से परीक्षण किया जा रहा है, इसलिए इसे अपनी पाठ योजना का हिस्सा बनाना सुनिश्चित करें।

2) इसे समूह कार्यकलाप में बदलें

आप इसे एक रीडिंग क्लब जैसा नाम दे कर पढ़ने को एक साप्ताहिक कार्यकलाप में बदल सकते हैं, जहाँ छात्र हाल ही में पढ़ी पुस्तक अथवा किसी पुस्तक के सिनेमा संस्करण पर चर्चा कर सकते हैं। इससे वह जवाबदेह और ज़िम्मेदार बनेंगे। यह उनके लिए नियमित रूप से पढ़ने का एक अच्छा प्रोत्साहन भी होगा।

3) छात्र महान कहानीकार होते हैं

 

“उपयोगकर्ता किसी विशिष्ट कलाकार से कलाकृति चुन सकते हैं और लिखकर अपनी कहानी-पुस्तिका बना सकते हैं। मैं साइट को सर्वश्रेष्ठ स्थानों से जोड़ रहा हूँ जहाँ छात्र ऑनलाइन लिख सकते हैं।”

लैरी फ़र्लाज़ो (Larry Ferlazzo)

शिक्षक, लेखक, ब्लॉगर

Storybird के साथ अपने छात्रों के भीतर छुपे कहानीकार को बाहर लाएँ। यह निःशुल्क उपयोग और इंटरैक्टिव पीसी उपकरण आपके छात्रों को कल्पनाशील बनाने में मदद करेगा और उन्हें अधिक विचारों के लिए और अधिक पढ़ने के लिए प्रेरित करेगा। इस उपकरण की सबसे अच्छी बात यह है कि इससे बच्चों को अपने अंदर के कहानीकार को उजागर करने की पूरी रचनात्मक आज़ादी मिलती है।

अब जब आपके पास अपनी कक्षा को पढ़ने में दिलचस्पी दिलाने की मार्गदर्शिका है तो उन्हें प्रेरित करने के लिए एक पीसी का भी उपयोग करें। (use a PC to get them motivated)