तकनीक को अपनाएँ, इससे डरे नहीं- ऐसा क्यों इसके 3 कारण?

डिजिटल दुनिया में परवरिश करना एक चुनौती है। लेकिन माता-पिता होने के नाते अगर आप तकनीक से डरे बिना इसे अपनाएँगे, तो इससे आपके बच्चे पर अच्छा असर पड़ सकता है। आप अपने बच्चे के डिजिटल सफर को सुरक्षित बनाने के लिए डिजिटल टूल्स से फायदा उठा सकते हैं। तकनीक कुछ तरीकों में शिक्षाप्रद हो सकती है।

 

  1. जिज्ञासा बढ़ाना

 

तकनीक असीमित रूप से जिज्ञासा बढ़ाती है। इससे आपका बच्चा चैट या ऑनलाइन फोरम के जरिए अपने सहपाठियों या शिक्षकों के साथ किसी विषिय के बारे में अपनी जिज्ञासा साझा कर सकते हैं। अपने बच्चे को उस विषय के बारे में ज्यादा जानने के लिए बढ़ावा दें जिसमें उसकी रूचि हो- भले ही आपका बच्चा रोबोट्स बनाने के तरीके के बारे में या ओरिगामी के मूल के बारे में जानना चाहता हो। इस जिज्ञासा के कारण आपके बच्चे में अलग-अलग तरह की रुचियाँ विकसित हो सकती हैं या वे दिलचस्प कैरियर पथ चुन सकते हैं।

 

  1. प्रगति ट्रैक करना

 

तकनीक ने माता-पिता और शिक्षकों के मध्य ज्यादा संगत वार्तालाप मुमकिन बनाया है। बच्चे की प्रगति पर नजर रखने से आपको ऐसी चीजें पहचानने में मदद मिलेगी जिसमें ज्यादा मेहनत की आवश्यकता है। इसके बाद आप उनके शिक्षक के साथ सहयोग करके उन चीजों पर ज्यादा मेहनत करके अपने बच्चे की पूर्ण क्षमता को अनलॉक कर पाएँगे।

 

  1. खुला वार्तालाप

 

बुनियादी बातों और तकनीक में होने वाले लगातार उन्नति के बारे में वार्तालाप से आपके बच्चे को ना केवल सुरक्षित महसूस होगा बल्कि उन्हें तकनीक से ज्यादा से ज्यादा पाने के बारे में आत्मविश्वास भी मिलेगा। सहायता और आत्मनिर्भरता के मध्य संतुलन रखना ही इसकी कुंजी है।

 

डिजिटल परविरश के बारे में ज्यादा जानकारी के लिए हमारे वेबिनार में शामिल हो जाएँ- https://www.dellaarambh.com/webinars/